वाइगोत्सकी का सामाजिक विकास का सिद्धांत || Vygotski Theory in Hindi

Vygotsky Theory in Hindi,वाइगोत्सकी का सामाजिक विकास का सिद्धांत- दोस्तों आज के इस Article में हम लोग वाइगोत्सकी के सामाजिक विकास का सिद्धांत पढ़ेंगे और सीखेंगे। जिस प्रकार पियाजे और कोहलबर्ग का सिद्धांत प्रसिद्ध है उसी प्रकार वाइगोत्सकी का सिद्धांत महत्वपूर्ण है।

सबसे पहले एक लाइन में जानते हैं कि Vygotsky का सामाजिक विकास का सिद्धांत क्या है? तो इसको ऐसे समझेंगे कि लेव व्यगोत्सकी कहते हैं कि बालक में विकास बाद में पर सामाजीकरण जन्म से ही प्रारम्भ हो जाता है। बालक का विकास सामाजिक अन्तः क्रिया का परिणाम है।

vygotsky theory in hindi, वाइगोत्सकी का सामाजिक विकास का सिद्धांत

वाइगोत्सकी का सामाजिक विकास का सिद्धांत || Vygotski Theory in Hindi

सबसे पहले जानते हैं कि सामाजिक विकास का सिद्धांत क्या है? What is Social Development Theory? तो आइए इसको ऐसे समझते हैं –

Social Development Theory || सामाजिक विकास का सिद्धांत

सामाजिक विकास का सिद्धांत कहता है कि सामाजिक अन्तः क्रिया के बाद विकास होता है। यानी कि पहले सामाजिक अन्तः क्रिया (Social Interaction) होगी फिर विकास (Development) होगा। इसे इंग्लिश में कह सकते हैं कि Social Interaction precedes Development.

ये भी पढ़ें -  अधिगम के वक्र - Learning Curve in Hindi

चेतना और संज्ञान, सामाजिकीकरण और सामाजिक व्यवहार का परिणाम हैं।

सामाजिक विकास का सिद्धांत किसने दिया?

सामाजिक विकास के सिद्धांत का प्रतिपादन लेव व्यगोत्सकी ने किया।

लेव व्यगोत्सकी का सिद्धांत

व्यगोत्सकी का सिद्धांत संज्ञानवाद की नींव में से एक है। ये तीन मुख्य थीम (टॉपिक्स) पर बात करता है-

  1. Socai Interaction – सामाजिक अन्तः क्रिया
  2. More Knowledgeable Others ( MKO)
  3. Zone of Proximal Development (ZPD)

Social Interaction – सामाजिक अन्तः क्रिया

बच्चे के संज्ञानात्मक विकास में सामाजिक अन्तः क्रिया मुख्य भूमिका निभाती है। पियाजे के बाल विकास के सिद्धांत का उलट ये कहते हैं कि पहले सामाजिक अधिगम होता है फिर विकास होता है जबकि पियाजे कहते हैं कि पहले विकास होता है फिर अधिगम होता है। इंग्लिश में कहें तो According to Piaget Development precedes Learning but According to Vygostky Social Learning Precedes Development.

ये भी पढ़ें -  अधिगम के नियम : Tharndaik के अधिगम के नियम

vygotsky कहते हैं कि बच्चे में संस्कृति का विकास 2 चरणों मे होता है – पहले सामाजिक लेवल में उसके बाद व्यक्तिगत लेवल में। अर्थात पहले लोगों के बीच यानी अंतर्वैयक्तिक फिर ख़ुद के अंदर यानी अंतरा वैयक्तिक।

The More Knowledgeable Others (MKO)

MKO ( More Knowledgeable Other) का मतलब है कोई ऐसा शख्श जिसमे सीखने वाले ( Learner) से ज़्यादा योग्यता हो बेटर अंडरस्टैंडिंग हो। MKO को सामान्यतया टीचर, कोच या ट्रेनर समझ लिया जाता है पर ये कोई भी हो सकता है समूह का सदस्य भी, कोई छोटा व्यक्ति भी या कंप्यूटर ही।

The Zone Of Proximal Development – ZPD की अवधारणा

बच्चे को जो आता है और जो नही आता है उसके बीच का क्षेत्र ही ZPD कहलाता है। यही Zone ऑफ Proximal डेवलपमेंट है।

व्यगोत्सकी कहते हैं कि बच्चे को थोड़ी सी मदद दी जाए तो वह बहुत कुछ सीख सकता है। इस मदद को शुरुआत में कुछ टाइम के लिए दिया जाता है फिर हटा लिया जाता है। इसे अंग्रेजी में Scaffolding कहते हैं। एक प्रकार की सीढ़ीनुमा मदद। यह तब जाती है जब बच्चे को जो नही आता वो सिखाना होता है।

ये भी पढ़ें -  UPTET/CTET Maths Study Material PDF in Hindi Download & Math Pedagogy Notes PDF in Hindi

Final words- दोस्तों आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को भी पढ़ा सकते हैं इसके लिए आपको इस आर्टिकल को शेयर वाली बटन में जाकर शेयर करना होगा।

अन्य महत्वपूर्ण लिंक्स-

Download Free CTET Notes PDF in Hindi

Download CTET EVS Notes PDF in Hindi

Download UPTET Exam Notes PDF in Hindi

Leave a Comment