बुद्धि परीक्षण और उसके प्रकार

आज हम आपको बुद्धि परीक्षण और उसके प्रकारों के बारे में बताएंगे। आज के आर्टिकल में आप बुद्धि परीक्षण के प्रकार ठीक से जान सकेंगे।

क्या आपको पता है सबसे पहला बुद्धि परीक्षण कब तैयार हुआ था और किसने तैयार किया था?

मैं आपको बताता हूँ। सन 1905 में बीने ने अपने सहयोगी साइमन के साथ मिलकर सबसे पहला बुद्धि परीक्षण तैयार किया था।

बुद्धि के प्रमुख सिद्धान्त एवं प्रतिपादक

बुद्धि परीक्षण के प्रकारों को जानने से पहले बुद्धि परीक्षण का इतिहास जान लिया जाए।

बुद्धि मापन की भाटिया बैटरी परीक्षण में कितने उप परीक्षण हैं,भाटिया बैटरी परीक्षण क्या है,भाटिया बैटरी परीक्षण में उप परीक्षण, बुद्धि लब्धि सूत्र के जनक,भाटिया बैटरी परीक्षण किसके लिए किया जाता है, भाटिया बैटरी टेस्ट ऑफ़ इंटेलिजेंस,क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण,बुद्धि परीक्षण, बुद्धि परीक्षण के प्रकार।

बुद्धि परीक्षण का इतिहास (History of Intelligence Test)

आधुनिक काल मे बुद्धि परीक्षण के सम्बंध वैज्ञानिक अध्ययन यूरोप में आरम्भ हुआ। सन 1879 ई• में जर्मनी के प्रसिद्ध वैज्ञानिक वुंट ने मनोविज्ञान की प्रथम प्रयोगशाला स्थापित की।

इस प्रयोगशाला में बुद्धि की परीक्षा वैज्ञानिक आधार पर की जाती थी। यहां बुद्धि का मापन यंत्रों के द्वारा किया जाता था।

वुंट के कार्यों से प्रोत्साहित होकर अन्य देशों के मनोवैज्ञानिकों ने बुद्धि परीक्षण से संबंधित कार्य करना आरंभ कर दिया। इस संबंध में फ्रांस के अल्फ्रेड बिने तथा अमेरिका के थार्नडाइक एवं टर्मन ने उल्लेखनीय कार्य किए हैं।

ये भी पढ़ें -  गिल्फोर्ड का बुद्धि का त्रिआयामी सिद्धान्त या त्रिविमीय सिद्धान्त || Guilford's Three Dimensional Theory Of Intelligence

अन्य मनोवैज्ञानिकों ने बुद्धि परीक्षण का निर्माण किया। परंतु यह परीक्षण साधारण मानसिक क्रियाओं को मापते थे। इसलिए इन्हें बुद्धि परीक्षण नहीं कहा जा सकता।

गिल्फोर्ड का बुद्धि का त्रिआयामी सिद्धान्त

इस कार्य में सबसे पहला व ठोस कदम उठाने वाले मनोवैज्ञानिक अल्फ्रेड बिने थे। सन 1905 में सहयोगी साइमन की सहायता से भिन्न-भिन्न आयु के बालकों की बुद्धि परीक्षण के लिए प्रश्नावली तैयार की। जिसे बिने साइमन बुद्धि मापक (Binet Simon Scale) कहा गया।

टर्मन ने सन 1913 से 16 के बीच बिने साइमन स्केल का संशोधन किया और इसका नाम स्टैनफोर्ड बिने स्केल रखा। सन 1937 में धर्मेंद्र मैरिल की सहायता से इसमें फिर कुछ सुधार किया और इसका नाम टर्मन – मैरिल स्केल रखा।

गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धांत

भारत में डॉक्टर सोहनलाल, डॉक्टर जलोटा, पंडित लज्जा शंकर तथा डॉक्टर भाटिया आदि ने विभिन्न बुद्धि परीक्षण तैयार किए हैं।

बुद्धि मापन की भाटिया बैटरी परीक्षण में कितने उप परीक्षण हैं,भाटिया बैटरी परीक्षण क्या है,भाटिया बैटरी परीक्षण में उप परीक्षण, बुद्धि लब्धि सूत्र के जनक,भाटिया बैटरी परीक्षण किसके लिए किया जाता है, भाटिया बैटरी टेस्ट ऑफ़ इंटेलिजेंस,क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण। बुद्धि परीक्षण, बुद्धि परीक्षण के प्रकार।
बुद्धि मापन की भाटिया बैटरी परीक्षण में कितने उप परीक्षण हैं,भाटिया बैटरी परीक्षण क्या है,भाटिया बैटरी परीक्षण में उप परीक्षण, बुद्धि लब्धि सूत्र के जनक,भाटिया बैटरी परीक्षण किसके लिए किया जाता है, भाटिया बैटरी टेस्ट ऑफ़ इंटेलिजेंस,क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण। बुद्धि परीक्षण, बुद्धि परीक्षण के प्रकार।

बुद्धि परीक्षण के प्रकार (kinds of intelligence test)

बुद्धि परीक्षण को प्रशासन की दृष्टि से दो भागों में बांटा जा सकता है जो इस प्रकार है-

  1. व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण
  2. सामूहिक बुद्धि परीक्षण
ये भी पढ़ें -  गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धान्त

बुद्धि परीक्षण को प्रस्तुतीकरण की दृष्टि से दो भागों में बांटा जा सकता है-

  1. शाब्दिक बुद्धि परीक्षण
  2. अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण

उपर्युक्त दोनों वर्गों के मिश्रण से बुद्धि परीक्षणों को निम्नलिखित चार वर्गों में रखा जा सकता है।

  1. वैयक्तिक शाब्दिक बुद्धि परीक्षण
  2. वैयक्तिक अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण
  3. सामूहिक शाब्दिक बुद्धि परीक्षण
  4. सामूहिक अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण

वैयक्तिक शाब्दिक बुद्धि परीक्षण

वैयक्तिक शाब्दिक बुद्धि परीक्षण में बुद्धि परीक्षा के लिए एक समय में एक व्यक्ति को लेते हैं। और उसमे व्यक्ति को भाषा जानना आवश्यक है जो परीक्षा में प्रयोग लाई गई है।

उदाहरण- बिने साइमन बुद्धि स्केल

वैयक्तिक अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण

वैयक्तिक अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण उनके लिए होते है, जिन्हें भाषा सम्बन्धी ज्ञान नही होता है। भाषा के स्थान पर चित्रों, वस्तुओं एवं आकृतियों आदि का प्रयोग होता है। इसे क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण भी कहा जाता है।

प्रमुख अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण

चित्रांकन परीक्षण, चित्रपूर्ति परीक्षण, भूलभुलैया परीक्षण हैं।

सामूहिक शाब्दिक बुद्धि परीक्षण

इसमे भाषा का प्रयोग ही अधिक होता है। इसमे बालकों की शाब्दिक योग्यता का मापन होता है।

सामूहिक बुद्धि परीक्षणों का विकास प्रथम विश्व युद्ध के समय हुआ था। क्योंकि बड़ी शीघ्रता से बड़ी संख्या में सैनिकों का चयन करना था।

ये भी पढ़ें -  विभिन्न शिक्षाशास्त्रियों के अनुसार "वातावरण" की परिभाषा

सामूहिक बुद्धि परीक्षण में आने वाले परीक्षण निम्न हैं:

  • आर्मी अल्फा टेस्ट
  • सेना सामान्य वर्गीकरण परीक्षण

सामूहिक अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण

इसमे भाषा का प्रयोग नही होता है। इस परीक्षण में जानवर का चित्र बनवाया जाता है। या फिर किसी चित्र में गलती बताई जाती है।

इसके प्रमुख प्रकारों में से एक है आर्मी बीटा टेस्ट

इसके अतिरिक्त कैटल का संस्कृति स्वतंत्र परीक्षण, व पीजन का अशाब्दिक परीक्षण है।

भाटिया बैटरी परीक्षण

डॉ भाटिया ने 1953 में बुद्धि से सम्बंधित एक परीक्षण का निर्माण किया। बुद्धि के इस परीक्षण को भाटिया बैटरी परीक्षण (भााटिया बैटरी टेस्ट ऑफ इंटेलिजेंस) कहते हैं। भाटिया बैटरी परीक्षण के 5 उप परीक्षण हैं।

बुद्धि का अर्थ, परिभाषा, प्रकार, सिद्धान्त, विशेषताएँ

अधिगम का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएँ, प्रभावित करने वाले कारक, सिद्धान्त

~ मैगडूगल के 14 मूल संवेग एवं प्रवृत्तियाँ

° संवेगात्मक विकास का अर्थ, परिभाषा एवं सिद्धांत

° मनोविज्ञान के प्रमुख सिद्धान्त और उनके प्रतिपादक

Tags: बुद्धि मापन की भाटिया बैटरी परीक्षण में कितने उप परीक्षण हैं,भाटिया बैटरी परीक्षण क्या है। भाटिया बैटरी परीक्षण में उप परीक्षण, बुद्धि लब्धि सूत्र के जनक, भाटिया बैटरी परीक्षण किसके लिए किया जाता है, भाटिया बैटरी टेस्ट ऑफ़ इंटेलिजेंस, क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण

Leave a Reply