गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल

गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया? गिल्फोर्ड का बुुद्धि सिद्धान्त या बुुद्धि का त्रिआयामी सिद्धान्त में ही बुद्धि के त्रिविमीय मॉडल की बात की गई। बुद्धि का त्रिआयामी या त्रिविमीय मॉडल गिल्फोर्ड ने दिया था। इसे ही अंग्रेजी में गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence कहा गया।

आज के इस आर्टिकल हम गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi, बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल, बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल के बारे में पढ़ेंगे।

गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया?
गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया?

गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल

जे पी गिल्फोर्ड ने 1961 में फैक्टर एनालिसिस के आधार पर बुद्धि के मॉडल की संरचना विकसित की।

इन्होंने बौद्धिक गतिविधियों को तीन आयामों में बांटा। जैसे– ऑपरेशन, सामग्री, उत्पादन।

इनका लॉजिक था कि बुद्धि में अलग-अलग स्वतन्त्र 150 कौशल शामिल हैं। ये जो बौद्धिक संरचनाएं थीं सब आपस मे एक दूसरे से जुड़ी थीं।

ये भी पढ़ें -  गिल्फोर्ड का बुद्धि का त्रिआयामी सिद्धान्त या त्रिविमीय सिद्धान्त || Guilford's Three Dimensional Theory Of Intelligence

इसलिए बुद्धि 5×5×6 = 150 क्षमताओं में सोचती है। जो इस प्रकार हैं। –

दरअसल इन बौद्धिक क्षमताओं को तीन व्यापक श्रेणियों में बांट दिया गया। निम्न हैं-

1- ऑपेरशन

संज्ञान- व्यक्ति चीजें पहचानने में सक्षम है।

यादाश्त (memory) – सीखी हुई चीज पुनः प्राप्त करने की क्षमता।

अलग उत्पादन- कुछ नया करने की प्रवृत्ति। हर बार कुछ नया रचनात्मक।

अभिसरण उत्पादन- मुख्य रूप से स्वीकृत जानकारी की पीढ़ी है। यह प्रतिक्रिया निर्धारित करती है।

मूल्यांकन- निर्णय लेना या निर्णय तक पहुंचना।

Tags- गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया?

2- सामग्री

दृश्य- एक ठोस सामग्री जिसे आंखों से देखा जा सके।

श्रवण- कानो से सुनी हुई चीजें, जानकारी इसमे आती है।

ये भी पढ़ें -  वृद्धि और विकास में अंतर

प्रतीकात्मक– अक्षर, सिंबल अन्य पारंपरिक संकेत इसमे आते हैं।

अर्थपूर्ण- यह कोई स्पष्ट बात होती है।

व्यवहार-मानव संरचना और उनके कार्यों को समझने का एक तरीका।

3- उत्पाद

यूनिट: अपनी विशिष्टता में संवेदी धारणा को समझने के लिए।

कक्षाएं: विचारों को वर्गीकृत करने की क्षमता।

संबंध: समझने की क्षमता, मौजूदा चीजों के बीच या बीच संबंध।

सिस्टम: क्षमता समूह विचार या अंतरिक्ष में समस्याएं या समाधान के लिए समस्याओं की संरचना करने की क्षमता।

परिवर्तन: एक निश्चित परिस्थिति में एक निश्चित वस्तु स्थिति के भविष्य के आकार का उत्पादन करने की क्षमता।

प्रभाव: अंतर्निहित अर्थों को समझने की क्षमता।

Tags- गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया?

गिल्फोर्ड के मॉडल ऑफ intelligence in Hindi / बुद्धि के त्रिविमीय मॉडल, बुद्धि के त्रिआयामी मॉडल का शैक्षिक महत्व

◆ विभिन्न आयु वर्ग के लिए उपयुक्त विभिन्न प्रकार के इंटेलिजेंस परीक्षण के निर्माण में मददगार।

ये भी पढ़ें -  प्रमुख शिक्षण विधियाँ एवं उनके प्रतिपादक

◆ समाज में व्यक्तिगत अंतर का अध्ययन करें।

◆ कई मानसिक क्षमताओं को खोजा जो पहले ज्ञात नहीं थे।

ये भी पढ़े-

गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धांत

गिल्फोर्ड का बुद्धि का सिद्धांत, बुद्धि का त्रिआयामी सिद्धान्त, त्रिविमीय सिद्धान्त संक्षेप में

Tags- गिल्फोर्ड मॉडल ऑफ Intelligence in Hindi || बुद्धि का त्रिविमीय मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल || बुद्धि का त्रिआयामी मॉडल किसने दिया?

Leave a Comment