14 सितम्बर हिन्दी दिवस – Hindi Divas Speech,essay,poem and Quotes in hindi

0
83
14 सितम्बर हिन्दी दिवस- Hindi Divas Speech , Essay,Poem,Shayari,Quotes,Slogan

मुख्य बिंदु-
1- Hindi Diwas 
2-Hindi Diwas Speech

3- Hindi Diwas Essay in Hindi
4- Hindi Bhasha Par Kavita
5- Hindi Diwas Poems
6- Kavita on hindi
7- Hindi Diwas Par Shayari
8- Hindi Diwas kya hai
9-Hindi Diwas Kyu manaya jaata hai
10- Hindi ki aaj kya dasha hai
14 सितम्बर हिन्दी दिवस - Hindi Divas Speech,essay,poem,Slogan,Quotes,Shayari,Kavita in hindi
14 सितम्बर हिन्दी दिवस – Hindi Divas Speech,essay,poem,slogan,quotes,Shayari,Kavita


तो चलिये शुरू करते हैं…..

एक लड़की के माथे पर जैसे प्यारी लगती है बिंदी,उसी तरह हमारे देश में स्थान रखती है हिन्दी।


दोस्तों…क्या केवल हिन्दी दिवस के दिन ही हिन्दी की तारीफ करना…जायज है? आज हम हिन्दी भाषा बोलने में इतनी शर्म क्यों महसूस करते हैैं..आज अपने ही देेेश में अपनी  भाषा इतनी उपेक्षित क्यों है?
आज अगर किसी को अंग्रेजी नही आती तो उसे हीन दृष्टि से देखा जाता है…कई नौकरियों में तो अंंग्रेजी न आने पर आप उस पद के काबिल ही नही होंगे।

   चलिये बहुत ही अंग्रेजी की बात…अंग्रेजी जानने समझने और सीखने में कोई बुराई नही है….वक़्त के साथ परिवर्तन ज़रूरी है…क्योंकि परिवर्तन तो प्रकृति का नियम है…
पर अपनी भाषा हिन्दी का अलग ही महत्व है…

मेरे प्यारे दोस्तों…आप सभी चेतन भगत से भली-भांति परिचित होंगे….उन्होंने अपने किसी एक वक्तव्य में ये कहा था कि… हिन्दी मेरे लिए माँ जैसी है….अंग्रेजी प्रेमिका जैसी…

बहुत से लोग ये मानते होंगे…पर कुछ लोग अपनी इस माँ को ओल्ड एज होम छोड़ कर आ गये हैं….

हिन्दी दिवस के दिन हम लोग बहुत लम्बी-लम्बी फेंकते हैं…और हिन्दी की दयनीय स्थिति का बखान करते हैं….पर हिन्दी को लेकर अंदर से अभी  भी सोच वैसी ही है…

जैसे आज हिन्दी दिवस मना लिया…और इसे भी फेसबुक…इंस्टाग्राम….और whatsapp में लिखेंगे….Me विद माई बेस्टी….सेलिब्रेटेड हिन्दी डे…यो….क्या हम हिन्दी डे की जगह Hindi Divas या Hindi Diwas नही लिख सकते हैं….

इंस्टा में और ट्विटर में तस्वीर के साथ कुछ यूूँ हैश टैग चलेेंगे… हैैैश टैग हिन्दी डे… हैैश टैग हिन्दी डे सेलिब्रेेशन….हैश टैग फुल एन्जॉय….आदि…
क्या हो गया है हम लोग को….आख़िर किस दिशा में जा रहे हम…किस दिशा में जा रही हमारी पीढ़ी….

चलिये आपको हिन्दी से जुड़ी कुछ बातें बताता हूँ…
अपनी हिन्दी भाषा की लिपि देवनागरी है…इसमेें जो शब्द जैसा लिखा जाता है वैसा ही बोला जाता है…वहीं इंगलिश मेें एक जगह टी ओ टू होता हैै…पर जी ओ गू नही होता…या जी ओ गो होता है…पर टी ओ टो नही होता…

उसमे नियम अज़ीब से लगते हैं…अपवाद भी कई हैं…
पर अपनी भाषा हिन्दी के साथ ऐसा नही है….सरल…सुन्दर…मीठी भाषा है अपनी हिन्दी….
पर मैं चाहता हूँ…मेरी बातों को हर इंसान सुने…चाहे किसी भी भाषा को बोलने वाला इंसान हो वो मेेेेरी बात सुुने….

मशूहर व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई हिन्दी दिवस के बारे में लिखते हैं कि….

“हिन्दी दिवस के दिन….हिन्दी बोलने वाले…हिन्दी बोलने वालों से कहते हैं कि हिन्दी में बोलना चाहिए….”


वाकई ये सच भी है….

आओ हम सब संकल्प करें कि अपनी भाषा हिन्दी पर कभी शर्म नही महसूूूस करेंगे…इसका आदर करेंगे….और हिन्दी बोलने वालोंं का कभी मज़ाक नही बनाएंगे…!! 

बस इसी के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूँ…!! 
धन्यवाद..!!

जय हिन्द….जय हिन्दी…!!

Hindi Diwas ||
Hindi Diwas Speech ||  Hindi Diwas Essay in Hindi || Hindi Bhasha Par Kavita || Hindi Diwas Poems || Kavita on hindi || Hindi Diwas Par Shayari || Hindi Diwas kya hai
Hindi Diwas Kyu manaya jaata hai || Hindi ki aaj kya dasha hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here