[Best] सर्वनाम किसे कहते हैं? सर्वनाम के भेद उदाहरण सहित

0
77

दोस्तों संज्ञा पढ़ने के बाद दूसरा मुख्य टॉपिक आता है सर्वनाम। सर्वनाम भी हिंदी व्याकरण का एक मुख्य टॉपिक है। यदि आपको संज्ञा आती है तो सर्वनाम पढ़ने में और भी मजा आएगा। आज के इस आर्टिकल में हम लोग सर्वनाम किसे कहते हैं यह जानेंगे। और साथ ही साथ सर्वनाम के भेद उदाहरण सहित समझेंगे।

सर्वनाम की परिभाषा || सर्वनाम किसे कहते हैं?

“सर्वनाम उन शब्दों को कहते हैं जो संज्ञा के बदले प्रयुक्त किए जाते हैं।” जैसे मैं, तू, हम, तुम, यह , वह, ये , वो आदि। सर्वनाम शब्द का अर्थ है सबका नाम। जैसेेे संज्ञा शब्द के नाम होते हैं राम, मोहन, श्यााम, सीता, राधा आदि। पर यह सब का बोध नहीं कराते हैं । यह केवल उसी विशेष व्यक्ति को नाम होते हैं जिन को बुलाया जा रहा होता है तो अपना नाम सुनकर पहचान जाते हैैं। पर सर्वनाम के साथ ऐसा नहीं है वह कोई भी व्यक्ति स्वतंत्र रूप से खुद के लिए प्रयुक्त कर सकता है और औरों के लिए भी प्रयुक्त कर सकता है। जैसे किसी ने कहा मैं अच्छा हूं तुम बताओ। अब दूसरेे व्यक्ति ने कहा मैंं भी अच्छा हूं और तुम बताओ क्या चल रहा है। अब यहां दोनों व्यक्तियों ने मैं और तुम का प्रयोग स्वतंत्र रूप से किया। यही सर्वनाम का कार्य है और यही इसकी विशेषता।
शेयर करें share

sarvanam kise kehte hain hindi mein, sarvanam in hindi chart sarvanam ke bhed ki paribhasha, sarvanam kise kehte hain uske bhed, sarvanam ke bhed worksheets,सर्वनाम किसे कहते हैं, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित, सर्वनाम के भेद, पुरुषवाचक सर्वनाम, निश्चय वाचक सर्वनाम, अनिश्चयवाचक सर्वनाम, प्रश्नवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम

[Best] सर्वनाम किसे कहते हैं? सर्वनाम के भेद उदाहरण सहित 1

सर्वनाम सार्थक शब्दों के आठ भेदों में एक भेद है।

* व्याकरण में सर्वनाम एक विकारी शब्द है।

हिंदी के मूल सर्वनाम 11 हैं, जैसे- मैं, तू, आप, यह, वह, जो, सो, कौन, क्या, कोई, कुछ।

सर्वनाम के भेद / प्रकार

प्रयोग की दृष्टि से सर्वनाम के छ: प्रकार हैं।

1. पुरूषवाचक – मैं, तू, आप।
2. निश्चयवाचक – यह,वह।
3. अनिश्चयवाचक – कोई,कुछ।
4. संबंधवाचक – जो,सो। 
5. प्रश्रवाचक – कौन, क्या।
6. निजवाचक – आप।
शेयर करें share

1- पुरुषवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग वक्ता या लेखक स्वयं के लिए या दूसरे के लिए करता है उसे पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं। पुरुषवाचक सर्वनाम तीन प्रकार के होते हैं-

  1. उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम
  2. मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम
  3. अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम

1- उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग वक्ता या लेखक स्वयं के लिए करता है उसे उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं जैसे– मैं हम मेरा आदि।

2- मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग वक्ता या लेखक अपने सामने वाले व्यक्ति के लिए करता है उसे मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम कहा जाता है। जैसे- तुम तू तुम्हारा तुझे आदि।

3- अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम

इसमें जब दो व्यक्ति किसी अन्य तीसरे व्यक्ति की बात करते हैं तो वहां पर अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम प्रयोग किया जाता है जैसे- उसका, वह, यह आदि।

sarvanam kise kehte hain hindi mein, sarvanam in hindi chart sarvanam ke bhed ki paribhasha, sarvanam kise kehte hain uske bhed, sarvanam ke bhed worksheets,सर्वनाम किसे कहते हैं, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित, सर्वनाम के भेद, पुरुषवाचक सर्वनाम, निश्चय वाचक सर्वनाम, अनिश्चयवाचक सर्वनाम, प्रश्नवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम

2- निश्चयवाचक सर्वनाम

जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति या वस्तु की ओर निश्चय पूर्वक संकेत करता है तो वहां पर निश्चयवाचक सर्वनाम होता है जैसे यह वह यह वह आदि।

उदाहरण के तौर पर निश्चयवाचक सर्वनाम को समझेंगे कि- यह कलम उसकी है अब यहां पर कलम को निश्चय पूर्व संकेत किया जा रहा है कि कलम जो है निकट में है और यही है। एक और उदाहरण समझेंगे वह राम की पुस्तक है।यहां पर निश्चय पूर्वक समझाया जा रहा है कि वह पुस्तक जो है राम की है।

3- अनिश्चयवाचक सर्वनाम

अनिश्चयवाचक सर्वनाम की परिभाषा कुछ इस प्रकार दी जा सकती है कि इसमें कुछ भी निश्चित नहीं होता है या निश्चयवाचक का जस्ट उल्टा है। जैसे कोई , कुछ , थोड़ा, बहुत आदि।

उदाहरण के तौर पर निश्चयवाचक सर्वनाम को समझेंगे कि-चाय में कुछ चीनी कम है। अब यहां हमें निश्चित रूप से पता नहीं है की चाय में कितनी चीनी कम है अतः यहां अनिश्चय वाचक सर्वनाम है। एक और उदाहरण समझेंगे कि वहां पार्क में कोई खड़ा है । अब यहां हमें निश्चित रूप से पता नहीं है कि कौन खड़ा है अतः यहां अनिश्चयवाचक सर्वनाम है।

4- संबंधवाचक सर्वनाम

दो व्यक्तियों वस्तुओं आदि ने परस्पर संबंध बताने के लिए जिन शब्दों का प्रयोग किया जाता है उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं जैसे जो वो , जिसकी उसकी , जैसा वैसा आदि।

उदाहरण के तौर पर समझेंगे कि-

जो सोया वो खोया यहां पर सोने और खोने के बीच संबंध बताया गया है।

जैसी करनी वैसी भरनी यहां बताया गया है कि जो इंसान जैसा करेगा उसको वैसा ही फल मिलेगा तो यहां फल और इंसान के बीच संबंध है एक।

sarvanam kise kehte hain hindi mein, sarvanam in hindi chart sarvanam ke bhed ki paribhasha, sarvanam kise kehte hain uske bhed, sarvanam ke bhed worksheets,सर्वनाम किसे कहते हैं, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित, सर्वनाम के भेद, पुरुषवाचक सर्वनाम, निश्चय वाचक सर्वनाम, अनिश्चयवाचक सर्वनाम, प्रश्नवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम

5- प्रश्नवाचक सर्वनाम

जो सर्वनाम संज्ञा के स्थान पर भी आते हैं और बाकी को प्रश्नवाचक भी बनाते हैं उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं ।जैसे- कौन , क्या , कहां , किसका आदि।

उदाहरण के तौर पर समझेंगे कि-

वह आदमी कौन है? तुम्हें क्या चाहिए? इन दोनों वाक्यों में प्रश्नवाचक सर्वनाम है ।

6- निजवाचक सर्वनाम

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग स्वयं अर्थात खुद के लिए किया जाता है उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे अपने आप, अपना, खुद का, आदि।

उदाहरण के माध्यम से निजवाचक सर्वनाम को समझेंगे जैसे कि राम अपना काम करता है। मैं अपना काम स्वयं करूंगा। इन वाक्यों में स्वयं का या खुद का बोध हो रहा है अतः निजवाचक सर्वनाम है।

तो दोस्तों यह थे सर्वनाम किसे कहते हैं, सर्वनाम के भेद, सर्वनाम के भेद कितने होते हैं ? सर्वनाम क्या है? सर्वनाम की परिभाषा, इन सब चीजों पर चर्चा। उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा। यदि आपको यह पसंद आया है तो अपने मित्रों के साथ शेयर करें । और उन्हें भी पढ़ाएं क्योंकि पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इंडिया।

उपयोगी लिंक्स-

संज्ञा की परिभाषा, भेद उदाहरण सहित पढ़ें

sarvanam kise kehte hain hindi mein, sarvanam in hindi chart sarvanam ke bhed ki paribhasha, sarvanam kise kehte hain uske bhed, sarvanam ke bhed worksheets,सर्वनाम किसे कहते हैं, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित, सर्वनाम के भेद, पुरुषवाचक सर्वनाम, निश्चय वाचक सर्वनाम, अनिश्चयवाचक सर्वनाम, प्रश्नवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here