सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा - For TET, DElEd,BTC,BEd - Hindi Meri Jaan

सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा – For TET, DElEd,BTC,BEd

सम्प्रेषण क्या है? सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा क्या है? सम्प्रेषण टॉपिक को बीटीसी/डीएलएड या फिर बीएड के लिए सरल भाषा में हम प्रोवाइड कर रहे हैं। सम्प्रेषण टॉपिक आपको UPTET Exam क्रैक करने में भी मददगार साबित होगा।

सबसे पहले हम आपको इसका जवाब एक लाइन में देते हैं कि सम्प्रेषण क्या है? सम्प्रेषण विचारों के आदान प्रदान की प्रक्रिया को कहा जाता है।

सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा
सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा

सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा

आपको हम सम्प्रेषण का अर्थ और कुछ परिभाषाएं बता रहे हैं। आप इसे ध्यान से पढ़िये जो आपके लिए काफी हेल्पफुल साबित होंगी। Yeah this will be Very Helpful for you.

सम्प्रेषण का अर्थ (Meaning Of Communication in Hindi)

सम्प्रेषण को English में Communication कहते हैं। जिसका अर्थ होता है विचारों का आदान प्रदान करना। इसकी उतपत्ति लैटिन भाषा के communis (कम्युनिस) शब्द से हुई है।

सम्प्रेषण दो शब्दों से मिलकर बना है। – सम+ प्रेषण यानी कि समान रूप से भेजा गया।

आइये और अच्छे से जानते हैं कि आखिर है क्या बला ये सम्प्रेषण।

देखिये आपको पढ़ने में यह शब्द बहुत भारी भरकम भड़कीला सा लग रहा होगा। पर यकीन मानिए ये बहुत इजी वर्ड है।

सिंपल लैंग्वेज में सम्प्रेषण के बारे में बताते हैं। सम्प्रेषण का अर्थ बस ये है कि हमने अपनी बात दूसरे तक पहुंचा दी। या फिर दूसरे की बात हम तक आ गयी।

अभी भी नही समझे सम्प्रेषण क्या है? सम्प्रेषण की परिभाषा जानने से पहले इस वर्ड को आप एकदम अच्छे से समझ लीजिए। सम्प्रेषण की परिभाषा तो चुटकियों में आ जायेगी।

Your expression, when you express something as a result of Communication.

अर्थात जब भी आप कुछ एक्सप्रेस कर रहे हैं वो सम्प्रेषण है।

सम्प्रेषण का मतलब है सूचना को प्रेषित करना और सूचना को प्राप्त करना।

हम जो बोलते हैं, सुनते हैं, लिखते हैं। ये सब सम्प्रेषण के ही प्रकार हैं।

उम्मीद है आप सम्प्रेषण का अर्थ समझ गए होंगे। Because हमने पूरी तरह से समझाने की कोशिश की है। आइये अब सम्प्रेषण की परिभाषा पढ़ते हैं। अच्छे से पढ़ियेगा। जिससे पढ़ने पर ही कुछ बहुत ध्यान हो जाएं।

सम्प्रेषण की परिभाषा – Definition of Communication

विभिन्न मनोवैज्ञानिक के अनुसार सम्प्रेषण की परिभाषा इस प्रकार है।

जॉन डीवी के अनुसार सम्प्रेषण की परिभाषा

सम्प्रेषण अनुभवों के आदान प्रदान की वह प्रक्रिया है जिसके परिणामस्वरूप दोनों सहभागियों में परस्पर लाभ के लिए परिवर्तन होता है।

-जॉन डीवी

एडगर डेल के अनुसार सम्प्रेषण क्या है, जानिए

सम्प्रेषण ऐसी प्रक्रिया है जिसमे विचारों एवं भावनाओं का परस्पर लाभ के लिए आदान प्रदान होता है।

डी बरलो के अनुसार सम्प्रेषण की परिभाषा

सम्प्रेषण प्रेषक तथा प्राप्तकर्ता के बीच विचारों की अन्तःक्रिया है। जिससे परस्पर लाभ हेतु दोनों में समझदारी बढ़ती है।

-D बरलो

अरस्तू के अनुसार सम्प्रेषण

सम्प्रेषण ऐसा माध्यम है कि एक व्यक्ति दूसरे को इस प्रकार प्रभावित कर सके ताकि वांछित उद्देश्य की प्राप्ति हो सके।

विलियम सचरम के अनुसार सम्प्रेषण की परिभाषा

“सम्प्रेषण में वे सारे तरीके आ जाते हैं। जिनसे सूचनाओं का आदान प्रदान होता है।”

ई.जी.मेयर के अनुसार संप्रेषण की परिभाषा

“संप्रेषण से तात्पर्य एक व्यक्ति के विचारों तथा शक्तियों से दूसरे व्यक्तियों को परिचित कराने से है।”

-ई• जी• मेयर

श्रीमती आर. के• शर्मा अनुसार संप्रेषण की परिभाषा

संप्रेषण विचार-विमर्श की वह विद्या है। जिसके माध्यम से व्यक्ति व्यवस्थित व तर्कसम्मत विचार व सम्मति को ग्रहण कर अपना मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं।”
- श्रीमती आर• के• शर्मा

लुईस ए.एलन के अनुसार संप्रेषण की परिभाषा

“संप्रेषण अर्थों का एक पूल है।जिसमें कहने सुनने तथा समझने की व्यवस्थित तथा सतत प्रक्रिया रहती है।”

डॉक्टर कुलश्रेष्ठ के अनुसार

“संप्रेषण एक गत्यात्मक , उद्देश्य पूर्ण प्रक्रिया है।इसमें सूचनाओ तथा विचारो का सम्प्रेषणएवम ग्रहण करना लिखित, मौखिक अथवा संकेतो के माध्यम से होता है।”

-डॉ• कुलश्रेष्ठ

ये भी पढ़ें

सम्प्रेषण के प्रकार – सम्प्रेषण के विविध रूप क्या हैं?

समावेशी शिक्षा का अर्थ, परिभाषा, उद्देश्य, सिद्धान्त

शिक्षण का अर्थ, परिभाषा, उद्देश्य, महत्व विशेषताएँ

शिक्षण सहायक सामग्री महत्व एवं प्रकार

Tags- Sampreshan ka arth evam Paribhasha, Sampreshan ka arth, Sampreshan ki paribhasha, Sampreshan meaning, सम्प्रेषण का अर्थ और परिभाषा, सम्प्रेषण का अर्थ एवं परिभाषा, सम्प्रेषण का अर्थ, सम्प्रेषण की परिभाषा

Leave a Reply