प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना की सम्पूर्ण जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश के हर गांव में इंटरनेट कनेक्शन पहुंचाने हेतु घर तक फाइबर योजना की शुरुआत की गई है। पहले जहाँ कुछ गांवों तक इंंटरनेट पहुंच पााया था। अब इसको वृहद स्तर पर इस योजना द्वारा पहुंचाया जाएगा।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना क्या है? प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना की विशेषताएं, प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना के लाभ आदि की चर्चा करेंगे।

घर तक फाइबर योजना क्या है?

देश के हर गांव को इंटरनेट कनेक्शन पहुंचाने के उद्देश्य से यह योजना शुरू की गई है। घर तक फाइबर योजना के द्वारा गांव तक फ़ास्ट स्पीड का इंटरनेट फाइबर ऑप्टिक केबल के द्वारा ब्रॉडबैंड के रूप में पहुंच सकेगा।

21 सितंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बिहार में इस योजना का शुभारंभ किया। स्वतंत्रता दिवस में नरेंद्र मोदी जी ने बताया था कि पहले मात्र 60-70 गांवों में इंटरनेट था परंतु पिछले 5 सालों में यह डेढ़ लाख से अधिक गांवों तक पहुंच गया है। और इस योजना द्वारा यह और गांवों तक देश के सभी गांवों तक पहुंचेगा।

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना की विशेषताएं

  • इस मुहीम की शुरुआत बिहार राज्य से हुई है। अब घर तक फाइबर योजना के पश्चात बिहार राज्य में गांव के लोग शहर के लोगों की अपेक्षा ज़्यादा इंटरनेट प्रयोग कर सकेंगे।
  • कहा जा रहा आने वाले 1000 दिन में हर गांव में इंटरनेट की सुविधा होगी।
  • इस योजना का नाम घर तक फाइबर योजना इसलिए है कि इससे गांव गांव में घर घर तक इंटरनेट सुविधा मिलेगी।
  • अब गांव के लोगों को ऑनलाइन कार्य करवाने हेतु शहर नही भागना पड़ेगा।
  • 2021 तक अधिकतर हर गांव में इंटरनेट होगा।

CSC सीएससी सेंटर देंगे ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट कनेक्टिविटी

  • गांव गांव तक इंटरनेट पहुंचाने हेतु सीएससी सेंटर को चुना गया है।
  • जिन गांवों में पहले से मौजूद है वहां पास के गांवों तक पहुंचाना इसका कार्य होगा।
  • 45000 से अधिक गांवों में 8900 पंचायतों से इंटरनेट घर तक फाइबर योजना के तहत बिहार में जोड़ा जाएगा।
  • 21 september से बिहार में यह कार्य शुरू हुआ है। 100 दिन तक में पूर्ण किया जाएगा।

घर तक फाइबर योजना के लाभ

  • जब गाँव-गाँव में इन्टरनेट सुविधा होगी तो गाँव का विकास होगा, गाँव का विकास मतलब देश का विकास, क्यूंकि भारत देश में अधिकतर जनता गाँव में रहती है.
  • इन्टरनेट ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी से हर गाँव में ई-कॉमर्स, ई-शिक्षा, ई-फार्मेसी, कॉल सेंटर, ऑनलाइन बैंकिंग, ऑनलाइन शोपिंग जैसे सुविधा शुरू हो सकेंगी.
  • किसान या छोटे उद्योगपति, नए उद्यमी अपने सामान को ऑनलाइन ई-हार्ट के द्वारा देश के हर कोने में बेच सकेंगें. जिससे उनकी आमदनी बढ़ेगी.
  • गाँव में इन्टरनेट सुविधा दुरुस्त होगी तो गाँव के उद्यमी के लिए रोजगार, नौकरी के नए अवसल खुलेंगें.
  • गाँव के लोगों को अब अपना घर, परिवार छोड़कर जॉब की तलाश में शहर की और नहीं भागना पड़ेगा, अपने क्षेत्र में ही रहकर वे पैसा कमा सकेंगें.
  • इन्टरनेट सुविधा आने से शिक्षा के क्षेत्र में भी गाँव का विकास होगा, गाँव वाले अब ऑनलाइन उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगें.
  • सरकार द्वारा चलाई जा रही तरह तरह की योजना का लाभ अब गाँव निवासी इन्टरनेट के द्वारा एक क्लिक पर ही ले सकेंगें. उन्हें इसका लाभ लेने के लिए यहाँ वहां नहीं भटकना पड़ेगा.
  • सरकारी योजना की जानकारी अब इन्टरनेट के माध्यम से जल्द इ जल्द उन्हें मिल सकेगी.
  • गाँव में इन्टरनेट सुविधा होने से लड़कियों को बहुत लाभ होगा, वो अपने घर में रहकर ही रोजगार कर अपने पैरों पर खड़ी होकर परिवार को संभाल सकेंगी.

घर तक फाइबर योजना हेतु FAQ

1- घर तक फाइबर योजना कब शुरू हुई?

21 सितंबर 2020 को

2- घर तक फाइबर योजना किसके द्वारा शुरू की गई?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा

3- घर तक फाइबर योजना की शुरुआत कहाँ से हुई?

बिहार राज्य से

4- घर तक फाइबर योजना का क्या फायदा है?

हर गांव हर घर तक तेज स्पीड के इंटरनेट की पहुंच होगी।

5- घर तक फाइबर योजना के तहत कनेक्शन कैसे होगा?

फाइबर ऑप्टिक केबल के माध्यम से।

Prakhar Srivastva: Prakhar एक लर्नर हैं,ये इनकी पहली प्रोफेशनल वेबसाइट है। 2018 से सीरियसली ब्लॉगिंग शुरू किया है। एजुकेशन,मोटिवेशन,समाज व जीवन के बारे मे लिखने का शौक है।

This website uses cookies.