गांधी जयंती पर भाषण || Gandhi Jayanti Speech in Hindi

दोस्तों गांधी जयंती पर भाषण, आज हम आपको अपनी वेबसाइट हिंदी मेरी जान पर बताएंगे । आपको यह वक्तव्य गांधी जयंती पर बहुत ही ज्यादा पसंद आएगा। गांधी मात्र एक व्यक्ति नहीं एक विचार था और आज उसी विचार के बारे में पूरा भाषण हम आपको बताएंगे।

गांधी जयंती पर भाषण हिंदी में यूं तो पूरे इंटरनेट में मौजूद है ढेर सारी वेबसाइट में। पर ये भाषण कुछ अलग होगा कुछ नया होगा। चीजें तो वही होंगी पर कुछ अलग ढंग से होगी। तो आइए पढ़ते हैं गांधी जयंती पर भाषण हिंदी में।

गांधी जयंती भाषण हिंदी में, 2 अक्टूबर गांधी जयंती भाषण, गांधी जी पर हिंदी भाषण, गांधी जयंती पर हिंदी भाषण, Gandhi jayanti speech in Hindi, Speech on Gandhi ji in Hindi, Gandhi ji par hindi bhashan, Gandhi ji par bhashan Hindi me,

गांधी जयंती पर भाषण हिंदी में || Gandhi Jayanti Speech in Hindi

गांधी जयंती पर भाषण- आदरणीय प्रधानाध्यापक जी एवं समस्त गुरु जन एवं मेरे प्यारेे भाइयों आज 2 अक्टूबर को हम सभी यहांं पर गांधी जयंती मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं और हमारे उद्देश्य है कि हम गांधी जी के विचारों को अपने जीवन में उतार सके और उनसे प्रेरणा लेते हुए आने वाले भविष्य को संवार सकें।

मैंने देखा है कि जो आज का युवा है, उसका छोटी-छोटी बात पर खून खौल उठता है। और वह मरने मारने की बातें करने लगता है। ऐसे युवाओं को गांधी जी से सीख लेनी चाहिए। मुझे पता है वह भी हमारी बात को नहीं समझेंगे पर कुछ सालों बाद उन्हें बात जरूर समझ में आएगी।

ये भी पढ़ें -  15 अगस्त पर भाषण हिंदी में || Independence Day Speech in Hindi

आजकल के युवाओं से जब बात करो कि गांधी जी के आदर्शों पर उन्हें चलना चाहिए तो वो गांधी को ही गलत साबित करने में जुट जाते हैं । उनको चरित्रहीन की संज्ञा देते हैं और तमाम बातें उनके बारे में करते हैं। पर वास्तविकता से क्या वह भली-भांति परिचित होते हैं कदापि नहीं क्योंकि उन्हें भी सुनी सुनाई बातों को सुनकर कहना बहुत ही अच्छा लगता है ऐसे ही काम करने में उन्हें कूल लगता है और मजा आती है।

गांधी जयंती भाषण हिंदी में, 2 अक्टूबर गांधी जयंती भाषण, गांधी जी पर हिंदी भाषण, गांधी जयंती पर हिंदी भाषण, Gandhi jayanti speech in Hindi, Speech on Gandhi ji in Hindi, Gandhi ji par hindi bhashan, Gandhi ji par bhashan Hindi me,

मैं यहां आज आपको यह बताने नहीं आया हूं कि गांधी जी ने देश के लिए क्या किया बलिदान किया वह तो सभी को पता है । हर एक छोटा बच्चा भी जानता है उनके बारे में। मैं यह बताने आया हूं कि गांधी ने ऐसा क्यों किया? गांधी क्या था?कैसे इतना महान बना ? तो चलिए जानते हैं।

ये भी पढ़ें-

14 सितम्बर हिंदी दिवस भाषण, कविता , शायरी

शिक्षक का महत्व- निबन्ध, भाषण, कविता, शायरी

15 अगस्त पर बेहतरीन भाषण हिंदी में

गाँधी जयंती पर हिंदी निबन्ध

सरदार पटेल का जीवन परिचय और आधुनिक भारत मे योगदान

एक समय था जब गांधी जी हमारे और आपकी तरह युवा थे और वह भी अपनी युवावस्था में थोड़ा बहुत नशा वगैरह और सब में लीन रहते थे। गांधी जी ने अपनी पुस्तक “सत्य के साथ मेरे प्रयोग” में अपनी सारी सच्चाई को उजागर किया हुआ है आपको भी वह पुस्तक पढ़नी चाहिए उनकी पुस्तक का नाम है “सत्य के साथ मेरे प्रयोग”

ये भी पढ़ें -  [Best] Farewell Speech in Hindi & Retirement Speech in Hindi

गांधी जी ने अपनी पुस्तक में लिखा है कि बचपन में वह सिगरेट और बीड़ी आदि का सेवन भी करते थे। परंतु कहते हैं ना कि इंसान की सोच बदलने के लिए एक पल का समय भी काफी होता है। वैसे ही गांधी जी के साथ भी हुआ। तब की घटना है जब गांधीजी साउथ अफ्रीका में थे और उन्हें ट्रेन की बोगी से उठाकर फेंक दिया गया था। तब गांधीजी के मन में पीड़ा उठी। और भारतीयों के प्रति असम्मान,घृणा, आदि का भाव जो विदेशियों के मन में था गांधी जी को पता चला। गांधीजी ने उसी वक्त ठान लिया कि हमें दिखाना है कि हम भारतीय कैसे हैं और वह वापस भारत चले आए।

गांधी जयंती भाषण हिंदी में, 2 अक्टूबर गांधी जयंती भाषण, गांधी जी पर हिंदी भाषण, गांधी जयंती पर हिंदी भाषण, Gandhi jayanti speech in Hindi, Speech on Gandhi ji in Hindi, Gandhi ji par hindi bhashan, Gandhi ji par bhashan Hindi me,

अब यहां से शुरू होता है गांधीजी का देश की आजादी का सफर सत्य और अहिंसा की बातें।

मैं गांधीजी के आंदोलनों और आदि बातों को बताकर आपका समय नष्ट नही करना चाहता हूं । वह तो अब हर कोई जानता है।

ये भी पढ़ें -  Best Motivational Speech For Students in Hindi || Motivational Speech in Hindi For Students

मेरा उद्देश्य बस इतना ही था मैं आपको बता सकूं गांधी भी कोई ईश्वर का अवतार नहीं थे। वह भी हमारे और आपकी तरह ही इंसान थे । बस उन्होंने अपने कुछ कर्म ऐसे किए जिसके द्वारा आज वह बापू कहलाते हैं, महात्मा कहलाते हैं।तो मेरा बस कहना यही है कि अगर आप गांधी को पढ़ते हैं और समझते हैं तो जरूर उनके विचारों को फॉलो करिए। बहुत ही अच्छी ज़िन्दगी होगी आपकी। बस ऐसी ही वाणी के साथ में विराम लेना चाहता हूं धन्यवाद।

गाँधी जयंती पर निबन्ध हिंदी में

दोस्तों अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करिए और अगर नहीं पसंद आया हो तो कमेंट करके बताइए कि क्यों नहीं पसंद है तो हम और अच्छा अलग लिखने का प्रयास करेंगे।

गांधी जयंती भाषण हिंदी में, 2 अक्टूबर गांधी जयंती भाषण, गांधी जी पर हिंदी भाषण, गांधी जयंती पर हिंदी भाषण, Gandhi jayanti speech in Hindi, Speech on Gandhi ji in Hindi, Gandhi ji par hindi bhashan, Gandhi ji par bhashan Hindi me,

Leave a Reply