दशहरा पर हिंदी निबंध || Dussehra Essay in Hindi

दशहरा पर हिंदी निबंध || Dussehra Essay in Hindi

आज के इस आर्टिकल में हम दशहरा पर हिंदी निबंध के बारे में बात करेंगे। और दशहरा के बेहतरीन हिंदी निबंध को पढ़ेंगे।जानेंगे कि दशहरा कब मनाया जाता है? क्यों मनाया जाता है? इसके मनाने के क्या कारण है? किन-किन वजहों से दशहरा मनाया जाता है? दशहरे में क्या किया जाना चाहिए दशहरा में क्या नहीं किया जाना चाहिए?

Dussehra Essay in Hindi For Class 5, Class 6, Class 7, Class 8, class 9, Class 10, Class 11, Class 12. इस दशहरे के निबंध को किसी भी कक्षा के विद्यार्थी प्रयोग कर सकते हैं। और यदि आप कोई प्रतियोगिता में दशहरे पर निबंध लिखना चाहते हैं तो भी लिख सकते हैं। दशहरा का हिंदी निबंध हर मायने में महत्वपूर्ण है और आपको यह जरूर पसंद आएगा।

दशहरा पर निबंध

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

दशहरा पर निबंध हिंदी में || Dussehra Essay In Hindi

दशहरा का त्यौहार अपने आप में एक खुशहाली का त्यौहार है, बुराई पर अच्छाई की जीत का त्यौहार है, असत्य पर सत्य की जीत का त्यौहार है.। दशहरा को मनाए जाने के पीछे बहुत से कारण है पर मुख्य क्या क्या कारण हैं, वह आज हम आपको बताते हैं। और साथ ही जानते हैं कि दशहरा कब मनाया जाता है क्यों मनाया जाता है ? कैसे मनाया जाता है?

दशहरा कब मनाया जाता है? when we celebrate Dussehra ?

दशहरा हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार है । हिंदू पंचांग के अनुसार या आश्विन माह की दशमी को शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है जो कि एक पूण्य तिथि है। इसके अलावा दो और पुण्य तिथियां होती हैं चैत्र पक्ष की और कार्तिक पक्ष की प्रतिपदा।

दशहरा का महत्व

दशहरा का महत्व पारंपरिक और धार्मिक रूप से बहुत ज्यादा है। क्षत्रिय लोग इस दिन शस्त्र पूजा करते है। और प्रत्येक लोग इस दिन अपने अंदर की बुराइयों को खत्म कर अच्छाइयों को प्रवेश करने का संकल्प लेता है। और सभी लोग रावण को पुतले को जलाने के साथ साथ अपने अंदर के भी रावण को मारने का संकल्प लेते है।

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

वर्तमान समय मे रावण कौन है ?

वर्तमान समय मे रावण की भूमिका निम्न लोग निभा रहे है।
●हमारे द्वारा बनाये गए इस प्रदूषण रूपी रावण को खत्म कर प्रकृति को दूषित होने से बचाना चाहिए।

●आजकल हम देखते है। ज्यादा तर लोग क्रोधपूर्ण और उग्र होते जा रहे। हमे अपने अंदर के इस प्रकार के रावण समाप्त कर भाई चारे की भावना के साथ रहना चाहिए।

● आजकल व्यक्ति लोभ रूपी अपने अन्द्रके रावण की वजह से दूसरे को हानि तक पहुचाने में उतारू रहता है। ऐसा ना करते हुए हमें इसका त्याग कर प्रत्येक व्यक्ति के भले के लिए सोचना चाहिए।

दशहरा पर्व कैसे मनाया जाता है?

हर त्योहर की अपनी एक विशेषता होती है। साथ ही साथ उसके मनाने का अलग तरीका होता है। दशहरा को भी विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है।

● मलेशिया में राष्ट्रीय अवकाश होता है। साथ ही साथ बांग्लादेशी भी इसे मनाते है।

●वर्तमान समय मे लोग इस त्योहार में एक दूसरे को मीठा पान खिला कर गले मिलते है। साथ ही साथ छोटे लोग बड़े लोगो का आशीर्वाद लेते है।

● कश्मीर में हिन्दू लोगो की संख्या कम है फिर भी इस त्योहार को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है।

●बंगाल , उड़ीसा,असम,तमिलनाडु,और आंध्र प्रदेश में नवदुर्गा के पश्चात इस त्योहार को मनाया जाता है।

●दशहरा के दिन विभिन्न जगहों में रामलीला और मेले का आयोजन होता है।

●आजकल लोग रावण के बड़े बड़े पुतले बना कर उसको जला कर दशहरा उत्सव मनाते है।

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

दशहरा क्यों मनाया जाता है? Why We Celebrate Dussehra ?

Dussehra Essay in Hindi

दशहरा मनाया जाने के पीछे बहुत से कारण हैं। लोग अपने अपने अनुसार कारण बताते हैं पर मुख्य कारण क्या है वह शायद ही किसी को पता हो। परंतु राम ने रावण को मारा था यह वाली कहानी ही सर्वाधिक प्रचलित है, इसी को लोग दशहरा का मुख्य कारण मानते हैं।

इसके अलावा दो तीन कहानियां और प्रचलित हैं जैसे कि किसान अपनी फसल काटकर घर लाते हैं तो कृषि के संदर्भ में दशहरा का उत्सव मनाया जाता है।

इसके अलावा यह भी कहानी है कि माता दुर्गा ने नवरात्रि के 9 दिन के पश्चात दसवें दिन असुर का वध किया था तो इस इस उत्सव को भी दशहरा के रूप में मनाया जाता है।

ये भी पढ़ें>> दशहरे से जुड़ी 5 कहानियां

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

रामलीला और रावण वध

ऐसा माना जाता है कि इस दिन ही भगवान राम ने रावण का वध किया था,इसलिए इसे दशहरा भी कहते हैं और साथ ही साथ विजयदशमी भी कहते हैं। क्योंकि इस दिन भगवान राम की विजय हुई थी।

इस दिन हम रावण का पुतला बनाकर उसको जलाते हैं उसमें पटाखे रॉकेट और तरह-तरह के विस्फोटक लगाकर उसको धड़ाम से दगा देते हैं। बच्चों को यह त्यौहार बहुत ही पसंद आता है क्योंकि उन्हें पटाखे फोड़ना बहुत ही ज्यादा प्रिय लगता है। इसलिए बच्चों में यह त्योहार खासकर बहुत ही प्रसिद्ध है।

गांव में या कस्बों में जगह जगह पर रामलीला का आयोजन भी होता है कुछ लोग राम बनते हैं, कुछ सीता बनते हैं, कुछ कुछ हनुमान बनते हैं, कुछ लक्ष्मण बनते हैं। इस प्रकार रामलीला का आयोजन होता है और सभी लोग मनोरंजन करते हुए रावण वध देखते हैं।

लोग क्या पढ़ रहे हैं-

रक्षाबन्धन पर निबंध

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिंदी में

ईद पर निबन्ध हिंदी में

शिक्षक का महत्व – निबन्ध, कविता, शायरी

असत्य पर सत्य की जीत व बुराई पर अच्छाई की जीत

मात्र रावण का वध कर देना या उस पर पटाखे लगाकर जला देना ही दशहरा का उद्देश्य नहीं है। रावण का जो पुतला फूंका जाता है इसका एक बहुत बड़ा उद्देश्य है। इसका उद्देश्य है कि हमें अपने अंदर की बुराइयों को मिटाकर अच्छाइयों को प्रदर्शित करना है। बुराई पर अच्छाई की विजय पानी है। जिस प्रकार रावण जैसे बुराई पर राम जैसे अच्छाई ने विजय पाई थी वैसे ही हमें अपने सारे गंदे कार्य, बुरे काम इन सब को मिटाकर एक अच्छे कार्य की शुरुआत करनी चाहिए।

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

यदि आज भी हमारे अंदर कुछ दोष हैं तो उसे हम दूर करने का प्रयास करें और इस दशहरे में खुशहाली मनाए और जीवन को साकार बनाएं।

दोस्त था दशहरा पर हिंदी निबंध, हिंदी निबंध दशहरा पर, दशहरे पर बेहतरीन निबंध दशहरा पर एक अच्छा निबंध आपको यह जरूर पसंद आया होगा। यदि आप कोई आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे जरूर अपने मित्रों के साथ शेयर करिए और उन्हें भी दशहरे का आनंद दिलवाइये।

दशहरा निबन्ध हिंदी में, Dussehra Essay in Hindi, Essay on Dussehra in Hindi, Dussehra kab manaya jata hai, dussehra kyu manaya jata hai, विजयदशमी पर हिंदी निबन्ध, Essay on Vijayadashmi in Hindi

Leave a Comment