दिवाली पर बेहतरीन निबन्ध – Diwali Essay in Hindi

0
97

Best Diwali Essay in Hindi – दोस्तों आप सभी का हमारे blog Hindi Meri Jaan में..बहुत-बहुत स्वागत है… यहाँ पर आपको Diwali Essay in Hindi पढ़ने को मिलेगा..दोस्तों Because दिवाली एक most important Festival है..अपने देश का और दिवाली त्यौहार अपने देश भारत में ही नही..बल्कि और भी देशों में धूमधाम से मनाया जाता है..but यह अपने देश का एक मुख्य और अहम त्यौहार है..हमें ख़ुशी है कि..आप यहाँ Best Diwali Essay in Hindi पढ़ने के लिए आये हैं…और यकीन मानिए आपको निराशा नही मिलेगी..

आपने Diwali Essay in Hindi करके कितने ही आर्टिकल पढ़ लिए होंगे..और आप यहाँ कुछ उम्मीद से आये होंगे..हम आपकी उम्मीदों में खरे उतरेंगे..और आपको best diwali essay in hindi provide करेंगे..

आप सब जानते होंगे इस दिन क्या होता है..पर उसको एक सही क्रम में व्यवस्थित तरीके से कैसे लिखना है..वो आप यहाँ पढ़ेंगे और सीखेंगे..आप मुख्य हेडिंग Diwali Essay in Hindi से शुरू करेंगे..और एक flow में पढ़ते चले जायेंगे…

diwali essay in hindi

दिवाली पर बेहतरीन निबन्ध – Diwali Essay in Hindi

प्रस्तावना 

घर को स्वच्छ कराकर लायी है यह खुशहाली,

आओ दिया जला दें देखो आई है दिवाली..

दिवाली एक खुशियों का त्यौहार है..इसके मनाये जाने के पीछे एक कारण छुपा हुआ है..जिसे शायद ही कोई न जानता हो..इसके आने के कुछ दिनो पूर्व से ही इसके स्वागत में समस्त देश लगा रहता है…दिवाली एक अद्भुत और अनोखा त्यौहार है..बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है यह त्यौहार…

दिवाली क्यों मनाई जाती है?

इस दिन राम अयोध्या वापस आये रावण को मारकर,

प्रजा ने किया स्वागत पटाखे और दिए जलाकर…

best diwali essay in hindi

भगवान श्री राम इस दिन दशानन रावण का वध करके अयोध्या लौटे थे..जिसकी ख़ुशी में अयोध्या में रहने वाली प्रजा ने.. घी और तेल के दीपक जलाकर उनका स्वागत किया..और पटाखे भी फोड़े…एक और मान्यता है कि.. इस दिन सिक्खों के गुरु गोविन्द सिंह की रिहाई हुई थी..इस वजह से भी दिवाली मनाई जाती है…

दिवाली के दिन क्या-क्या होता है?

पटाखे,मिठाई बाद में, पहले लेते हैं गणेश-लक्ष्मी को पूज,

दिवाली  के एक दिन बाद परीवा, फिर मना लेते हैं भाई दूज.. 

दिवाली के दिन क्या-क्या होता है..ये जानने से पहले..ये जान लेते हैं कि इसके पहले और बाद में क्या-क्या होता है..

धनतेरस

इस दिन लोग सामान खरीदते हैं…For Example कुकर,कढ़ाई,मग-बाल्टी..गणेश-लक्ष्मी जी की मूर्ती,कुर्सी,टीवी,फ्रिज आदि..ऐसा माना जाता है कि इस दिन ये सब खरीदना शुभ होता है…कुछ न कुछ लेना ही चाहिए..

नर्क चतुर्दसी

इसकी एक अलग ही कथा है..पर यहाँ ये जानना ही पर्याप्त है..कि दिवाली एक दिन पहले और धनतेरस के एक दिन बाद ये दिन आता है,..and लोग इसे छोटी दीपवाली भी कहते हैं..

परीवा

इस दिन व्यापारी वर्ग अपनी दुकानें बंद रखते हैं…

भाई दूज

इस दिन बहनें अपने भाई के रोचना लगाती हैं..रोली और चावल मस्तक में लगाती हैं..और मिठाई खिलाती हैं..भाई बहनों को उपहार देते हैं..

अब आते हैं कि दिवाली के दिन क्या-क्या होता है..so इस दिन गणेश लक्ष्मी की पूजा होती है..कहते हैं कि इस दिन लक्ष्मी जी का आगमन होता है..मिठाई,लाइ,गट्टा-पट्टी आदि खाया जाता है और पटाखे छुड़ाए जाते हैं..

awesome diwali essay in hindi

Conclusion/उपसंहार

Hence इस त्यौहार का और diwali essay in hindi का main aim क्या है…हमे वो समझने की कोशिश करनी चाहिए..दीपक जलाने से कीट का नाश होता है..पटाखों के जलाने से pollution होता है..That’s why पटाखे नही जलाने चाहिए..राम ने जैसे रावण पे विजय प्राप्त की..वैसे ही हमे अपने अंदर के राम और रावण में से अहंकार..और क्रोध रुपी रावण को मारकर..सच्चाई..ईमानदारी..दया..प्रेम..जैसे राम को विजय दिलानी चाहिए..

आप पढ़ रहे थे दिवाली पर बेहतरीन निबन्ध – Diwali Essay in Hindi, आपको यह कैसा लगा..अपनी प्रतिक्रिया दीजिये..सोशल मीडिया पर शेयर कीजिये..और अगर आप इसमें कुछ ऐड करवाना चाहते हैं.. तो कमेन्ट करिये या हमारे कांटेक्ट वाले पेज पर जाकर हमसे सीधे सम्पर्क करिये…

THANK YOU.. धन्यवाद,शुक्रिया..!!

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here