बुद्धि परीक्षण और उनके प्रकार

बुद्धि की माप बुद्धि परीक्षण के द्वारा की जाती है। बुद्धि परीक्षण के माध्यम से ही एक व्यक्ति की बुद्धि लब्धि नापी जा सकती है।बुद्धि लब्धि का संप्रत्यय टर्मन ने दिया।जबकि जर्मनी के विलियम स्टर्न ने 1912 में इसके विषय में सुझाव रखे थे।

बुद्धि परीक्षण का सूत्र कुछ इस प्रकार है।
बुद्धि परीक्षण = मानसिक आयु /वास्तविक आयु× 100


टरमैन ने बुद्धि परीक्षण से संबंधित 1916 में एक तालिका भी प्रस्तुत की। जिनमें विभिन्न बुद्धिलब्धि गुणांकों के लिए बालकों का व्यक्तियों की प्रतिशत संख्या भी दी थी।

बुद्धि लब्धि का वितरण
बुद्धि(I.Q)प्रतिशत %वर्ग(Category)
140 से अधिक1प्रतिभाशाली
(Genius)
121-1405प्रखर बुद्धि
(Superior)
111-12014तीव्र बुद्धि
(Above Average)
91-11060सामान्य बुद्धि
(Average)
81-9014मंद
(Feeble minded)
71-805अल्प (Dull)
71 से कम1जड़ ( Idiot)

अल्फ़र्ड बिने ने 1905 में सर्वप्रथम बुद्धि परीक्षण का निर्माण किया था। इसके बाद बुद्धि परीक्षण को मापने के लिए अनेक बुद्धि परीक्षण बनाए गए। और यह बनाने का क्रम आज भी दुनिया में चलता आ रहा है। बुद्धि परीक्षण का वर्गीकरण निम्नलिखित आधार पर किया जा सकता है।

  1. प्रशासन या क्रियान्वयन के आधार पर
    A. वैयक्तिक बुद्धि परीक्षण
    B.सामूहिक बुद्धि परीक्षण
  2. पदों या प्रश्नों के स्वरूप के आधार पर
    A.शाब्दिक बुद्धि परीक्षण
    B.अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण
    C.क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण
    D. अभाषाई बुद्धि परीक्षण
  3. अन्य आधार पर
    A. गति बुद्धि परीक्षण
    B. शक्ति बुद्धि परीक्षण

आशा है कि हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पासन्द आयी होगी अगर पसंद आई हो तो जरूर शेयर करे।

इसे भी पढ़े

मैकडुगल की मनोवृत्तियां और संवेग

अधिगम के सिद्धात

Sharing is caring!

Leave a Comment

shares