गणतंत्र दिवस पर निबंध- 26 January Republic Day Essay in Hindi

Republic day Essay in Hindi-गणतंत्र दिवस हमारे देश के इतिहास में एक खास महत्व रखता है क्योंकि इसी दिन हमारे देश में संविधान लागू हुआ था। यह एक राष्ट्रीय पर्व है और हम सब भारतीय इसे हर साल हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं ।  हमारे देश के विद्यालयों में अक्सर छात्रों को गणतंत्र दिवस पर निबंध (Essay on Republic Day in Hindi) लिखने के लिए कहा जाता है। तो नीचे है गणतंत्र दिवस पर निबंध जो किसी निबंध लेखन प्रतियोगिता में लिख सकते हैं।

26 January Essay in Hindi, Essay on 26 January in Hindi, Republic day essay in Hindi, Essay on Republic day in hindi, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध हिंदी में, Essay on 26 January in hindi for class 7, गणतंत्र क्या है, 26 जनवरी पर निबंध हिंदी में, 26 जनवरी का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना उपसंहार, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना सहित, गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में, गणतंत्र दिवस का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020

26 January Essay in Hindi, Essay on 26 January in Hindi, Republic day essay in Hindi, Essay on Republic day in hindi, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध हिंदी में, Essay on 26 January in hindi for class 7, गणतंत्र क्या है, 26 जनवरी पर निबंध हिंदी में, 26 जनवरी का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना उपसंहार, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना सहित, गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में, गणतंत्र दिवस का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020
गणतंत्र दिवस पर निबंध

26 January Republic Day Essay in Hindi – गणतंत्र दिवस पर निबंध। 

प्रस्तावना 

हमारे देश में सैकड़ों सालों तक बाहरी लोगों का शासन रहा जिसमें 200 साल तक दमनकारी अंग्रेजी सरकार ने हम पर हुक़ूमत की। अंग्रेजी शासन के दौरान गरीब निर्धन भारतीयों पर अत्याचार हुआ उनसे कर वसूला गया और भारतीयों का जीवन कीड़े-मकोड़ों जैसे हो गई। उन्होंने हमारी संस्कृति को बर्बाद कर दिया। बांटो और राज करो की नीति को अपनाकर उन्होंने हमें आपस में लड़ा कर रखा था ताकि हम आपसी झगड़ों में उलझे रहे और वो अपनी मनमानी करते रहे। 

अंग्रेज हमारे देश से अरबों की संपत्ति लूट कर अपने देश ले गए और अपना जीवन स्तर ऊंचा किया जबकि हमें अपमानित करके हमें नीचा दिखा कर अपना गुलाम बना कर रखा। 

जब उनका अत्याचार हद से पार हो गया तब जाकर भारत के कुछ चुनिंदा लोगों ने इसके विरुद्ध आवाज उठाई फिर भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस जैसे हजारों-लाखों लोग सामने आए  और अपने अपने तरीके से भारत को आजाद कराने में अपना योगदान दिया। 

ये भी पढ़ें -  पुस्तकालय पर निबन्ध: Essay on library in hindi

अंततः  15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हुआ जो कि हम हर साल स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं।  लेकिन उस समय हमारे देश में कोई अपना कानून और संविधान नहीं था।

संविधान के बनने में लगभग ढाई साल का समय लगा और 26 जनवरी 1950 को भारत देश में गणतंत्र की स्थापना हुई जिसे हम हर साल गणतंत्र दिवस के रुप में मनाते हैं। 

गणतंत्र दिवस कार्यक्रम:

हर साल 26 जनवरी को देश की राजधानी दिल्ली में राजपथ पर भारत के राष्ट्रपति राष्ट्रीय झंडा तिरंगा फहराते हैं। ध्वजारोहण के तत्पश्चात राष्ट्रगान जन-गण-मन गाया जाता है और राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाती है। 

वहां पर अनेक राज्यों की झांकियां निकाली जाती हैं। झांकियों में एक राज्य की सांस्कृतिक पहचान को दिखाया जाता है जिसमें वहां का लोकनृत्य कभी प्रदर्शन किया जाता है। 

तीनों सेनाध्यक्ष भी वहां उपस्थित रहते हैं। उस दिन भव्य परेड का आयोजन होता है हमारे तीनों सेना के जवान उसमें शामिल होते हैं। हमारे जल, थल व वायुसेना के जांबाज सैनिक अनेक प्रकार के प्रदर्शन भी करते हैं। परेड में बच्चों के लिए खास जगह होते हैं बहादुर बच्चों को सम्मानित भी किया जाता है। 

हर साल गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम मैं किसी अन्य देश के राष्ट्राध्यक्ष को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया जाता है। 

इस दिन पूरे देश भर में शैक्षणिक संस्थानों में भी अनेक प्रकार के कार्यक्रम रखे जाते हैं, जिसमें ध्वजारोहण के साथ साथ अनेक प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होते हैं। 

26 January Essay in Hindi, Essay on 26 January in Hindi, Republic day essay in Hindi, Essay on Republic day in hindi, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध हिंदी में, Essay on 26 January in hindi for class 7, गणतंत्र क्या है, 26 जनवरी पर निबंध हिंदी में, 26 जनवरी का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना उपसंहार, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना सहित, गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में, गणतंत्र दिवस का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020

गणतंत्र दिवस मनाना गर्व का विषय:

गणतंत्र दिवस वह दिन है जब हमारा देश एक गणतंत्र के रूप में दुनिया में अपनी पहचान बनाया। इसी दिन हमारे देश में संविधान लागू हुआ। हमारे देश का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है और हमारा देश सबसे बड़ा लोकतंत्र। 

ये भी पढ़ें -  Top 8 Best Essay on Holi in Hindi With Quotation

गणतंत्र दिवस हमारे स्वराज का प्रतीक है और इससे हमारा स्वाभिमान जुड़ा है। एक दिन अलग-अलग राज्यों की झांकियों के द्वारा हम अपनी एकता को दर्शाते हैं। वहीं सेना की प्रदर्शनी के द्वारा हम अपनी शक्ति को भी दिखाते हैं कि हम एक ताक़तवर देश और यदि कोई हमारे तरफ आँख उठाकर देखेगा तो उसके लिए हमारे सेना तैयार है।

गणतंत्र दिवस दिवस हमारी आजादी का प्रतीक है।  यह हमें याद दिलाता है कि हम पर किसी और का शासन नहीं यद्यपि हमारा स्वयं का शासन है। हमें गर्व है कि हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का हिस्सा है। हमारा संविधान दुनिया में सबसे बड़ा है। 26 जनवरी के दिन हर भारतीय के हृदय में कहीं न कहीं वह गर्व का अनुभव जरूर होता है। 

हम उस दिन अपने वीर जवानों को याद करते हैं तथा संविधान निर्माताओं का आभार व्यक्त करते हैं कि उन्होंने हमें इतना सुंदर संविधान बना कर दिया जिससे छत्रछाया में आजादी से सांस ले सकते हैं तथा वह सब कुछ कर सकते हैं जो हम करना चाहेंगे। 

भारत के लिए 26 जनवरी का ऐतिहासिक महत्व:

26 जनवरी हमारे लिए एक अलग ही महत्व रखता है क्योंकि इसी दिन 1929 को पंडित जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में हमने अंग्रेजों से  स्वायत्त उपनिवेश पद की मांग की थी और यह भी कहा था कि यदि 26 जनवरी 1930 तक यदि अंग्रेजों ने ऐसा नहीं किया तो भारत अपनी स्वतंत्रता के लिए आंदोलन करेगा। जब अंग्रेजों ने 26 जनवरी 1930  तक कुछ नहीं किया तब भारत ने 26 जनवरी को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाना शुरू कर दिया और 15 अगस्त 1947 तक 26 जनवरी को ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता रहा। बाद में 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार कर लिया गया। 

संविधान के बनने में लगभग ढाई साल का समय लग गया।  26 नवंबर 1949 को हमारा संविधान बनकर तैयार हो गया था और 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में देश का अपना संविधान लागू हो गया और भारत एक गणराज्य के रूप में स्वयं को स्थापित किया। और इसीलिए इस दिन को भारत गणतंत्र दिवस के रूप में मनाता है। 

ये भी पढ़ें -  नारी सशक्तिकरण पर निबंध,वाद विवाद, स्लोगन

उपसंहार 

गणतंत्रता दिवस सिर्फ एक त्यौहार मात्र नहीं  है यह एक मौका है जब हम अपनी आने वाली पीढ़ी को बता सकते हैं कि हमारे देश को स्वाधीनता प्राप्त करने में कितना बलिदान देना पड़ा।  हम बच्चों से अपने उन स्वतंत्रता सेनानियों का किरदार निभा कर उन्हें राष्ट्र के प्रति आदर तथा सम्मान की भावना जागृत कर सकते हैं। 

इस दिन हम सब को संकल्प लेना चाहिए कि हम सिर्फ अपने अधिकारों के नहीं बल्कि अपने कर्तव्य के प्रति भी ईमानदार रहेंगे और देश के सतत विकास में अपना भी योगदान देंगे।  गणतंत्र दिवस के दिन हमें उन सब का आभार व्यक्त करना चाहिए जिनकी वजह से हमें आजादी मिली और जिनकी वजह से हम आज भी आजाद हैं। 

इसे भी पढ़े- गणतंत्र दिवस पर भाषण – 26 January Republic Day Speech in Hindi

इसे भी पढ़ें- गणतंत्र दिवस पर शायरी, कोट्स, स्लोगन विथ इमेजेज

Tags- 26 January Essay in Hindi, Essay on 26 January in Hindi, Republic day essay in Hindi, Essay on Republic day in hindi, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध, गणतंत्र दिवस पर निबन्ध हिंदी में, Essay on 26 January in hindi for class 7, गणतंत्र क्या है, 26 जनवरी पर निबंध हिंदी में, 26 जनवरी का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना उपसंहार, गणतंत्र दिवस पर निबंध प्रस्तावना सहित, गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में, गणतंत्र दिवस का निबंध, गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020

Leave a Comment